वी-जेन यूथ प्रतियोगिताएँ

विभिन्न क्षेत्रीय कार्यालयों द्वारा स्थानीय स्कूलों के साथ मिलकर आयोजित वी-जेन यूथ कार्यक्रम

भारत सरकार गृह मंत्रालय राजभाषा विभाग की राजभाषा नीति के प्रचार प्रसार के क्रम में वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवाएं विभाग द्वारा वित्तीय समावेशन की तर्ज में ही देश की कर्णधार भावी पीढ़ी हमारे विद्यार्थियों में भी राजभाषा हिन्दी की अलख जगाने के उद्देश्य को सार्थक करने हेतु जारी दिशानिदेशों के अनुसरण में विजया बैंक विभिन्न केन्द्रों में स्कूलों व अन्य शिक्षा संस्थानों के साथ मिलकर वी-जेन यूथ कार्यक्रम आयोजित करता है जिसमें बच्चों के लिए प्रतियोगिताएँ, वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम आदि आयोजित किए जाते हैं.

क्षेत्रीय कार्यालय दिल्ली द्वारा आयोजित कार्यक्रम

दिल्ली क्षेत्र द्वारा अपने क्षेत्रान्तर्गत  पटेल नगर शाखा के सहयोग से दि.15.07.2015को इलाके के प्रतिष्ठित राजकीय बाल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ईस्ट पटेल नगर,दिल्ली में निम्नलिखित विषयों पर वी-जेनयूथ भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया.

1.  सरकारी कामकाज की भाषा व्यवहार में भी हिन्दी ही होनी चाहिए.

2.  शहर ही नहीं वरन दूर-दराज गॉंवो के विद्यालयों के सभी विद्यार्थियों को भी बैंकिंग सुविधाएं सुलभ होनी चाहिए.

3.  स्वच्छ भारत - हमारी पहचान.

4.  भारत तभी स्वच्छ होगा जब भ्रष्टाचार मुक्त होगा.

5.  भारत में उच्च शिक्षा भी हिन्दी माध्यम में सुलभ हो

उच्चतर माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक स्तर के विद्यार्थियों हेतु सुगम हिन्दी गीत गायन प्रतियोगिता तथा माध्यमिक स्तर के विद्यार्थियों हेतु हिन्दी कविता प्रतियोगिताओं का सफल आयोजन किया गया और विजेता प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि के करकमलों से पुरस्कृत किए जाने के साथ ही सभी प्रतिभागियों को प्रतिभागिता प्रमाणपत्र प्रदान किए गए।

विजया बैंक क्षे.का.दिल्ली के सहायक महाप्रबन्धक श्री जगदीश चन्द्र जुनेजा ने विद्यार्थियों को हिन्दी भाषा के प्रति आकर्षित करने का सारगर्भित सम्बोधन दिया और विद्यालय के कार्यवाहक प्रधानाचार्य श्री सुनीला जी ने भी इस अवसर पर विद्यार्थियों में राजभाषाराष्ट्रभाषा के प्रयोग सेसमर्पित भाव से जीवन में अग्रसर होने का मन्त्र दिया।  विजया बैंक क्षे.का.दिल्ली के वरिष्ठ प्रबन्धक राजभाषा श्री वीरेन्द्र सिंह रावत ने हिन्दी को जन-जन से जोड़ने के अनुष्ठान की महत्ता के साथ ही इस विडम्बना का भी उल्लेख किया कि आज हिन्दी सीखने के लिए विदेशी भारत आ रहे हैं और दुनिया भर के लोग हिन्दी सीखना चाहते हैं । विश्व की महा शक्ति अमेरिका में 80हिन्दी स्कूल हैं,कनाडा में 95हिन्दी स्कूल हैं24 विद्यालय मारीशस में हैं तो 95 हिन्दी शिक्षण संस्थान ऑस्लिया में हैं और ऐसे ही न जाने कितने हिन्दी शिक्षण संस्थान विश्वभर में होंगे लेकिन आज भारत में कुछ ऐसे भी युवा हैं जिन्हें हिन्दी बोलने में बेइज्जती महसूस होती है और उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वान किया कि आओ ऐसी तस्वीर को बदलें और हिन्दी का प्रयोग अपने जीवन के हर क्षेत्र में बढ़ाएं।  विद्यार्थियों ने भी बेहतरीन प्रस्तुतियॉं कर साफ किया कि देश की कर्णधार भावी पीढ़ी अपनी राजभाषा हिन्दी के प्रति न सिर्फ समर्पित है वरन इसी भाषा में सहज भी अनुभव करती है । इस कार्यक्रम में गणमान्य अतिथियों सहित विद्यालय के सैकड़ों विद्यार्थी उपस्थित थे और सभी ने राजभाषा हिन्दी के प्रचार प्रसार में बेहद उपयोगी इस अनूठे कार्यक्रम की मुक्त कण्ठ से प्रशंसा की ।  

 

कोच्ची क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम

कोच्ची क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा स्थानीय आक्सिलियम स्‍कूल, पल्‍लुरुति में दि.04.12.2015 को वी-जेनयूथ कार्यक्रम आयोजित किया गया. 

इसकी झलकियाँ नीचे प्रस्तुत है.

 

क्षेत्रीय कार्यालय कलबुर्गी द्वारा आयोजित कार्यक्रम

क्षेत्रीय कार्यालय कलबुर्गी द्वारा स्थानीय स्कूल में छात्रों के लिए वी-जेनयूथ कार्यक्रम आयोजित किया. इसकी कुछ झलकियाँ नीचे प्रस्तुत है