राजभाषा कार्यान्‍वयन

वर्ष 1980 में बैंक के राष्‍ट्रीयकरण के बाद प्रधान कार्यालय में राजभाषा कक्ष की स्‍थापना की गयी. वर्ष 1990 में राजभाषा कक्ष में मुख्‍य प्रबंधक को तैनात कर उसे राजभाषा प्रभाग का दर्जा दिया गया. राजभाषा प्रभाग द्वारा भारत सरकार की राजभाषा नीति का कार्यान्‍वयन सुनिश्चित किया जाता है. इस कार्य को सुचारु रूप से चलाने हेतु राजभाषा प्रभाग महा प्रबंधक के नियंत्रणाधीन. संप्रति प्रधान कार्यालय के राजभाषा प्रभाग के प्रमुख मुख्‍य प्रबंधक हैं. बैंक के सभी क्षेत्रीय कार्यालय तथा स्‍टाफ महाविद्यालय में विभिन्‍न वेतनमान के राजभाषा अधिकारी तैनात हैं.
 
 
राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति

प्रधान कार्याल‍य में राजभाषा कार्यान्‍व‍यन समिति के अध्‍यक्ष, बैंक के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ हैं. सभी क्षेत्रीय कार्यालय तथा शाखा कार्याल‍यों में राजभाषा समितियां गठित हैं जिनके अध्‍यक्ष कार्यालय प्रमुख हैं. राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की तिमाही अंतरालों में बैठकें होती हैं जिसमें कार्यालय द्वारा राजभाषा कार्यान्‍व‍यन में की गयी प्रगति की समीक्षा की जाती है.

 
 
हिन्‍दी में प्रशिक्षण पाने हेतु बैंक अपने कर्मचारियों को प्रोत्साहन देता है. बैंक द्वारा हिन्‍दी का कार्यसाधक ज्ञान प्राप्‍त करने हेतु कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिलाया जाता है. इसी प्रकार हिन्‍दी टंकण व हिन्‍दी आशुलिपि प्रशिक्षण भी दिया जाता है. हिन्‍दी परीक्षाएं उत्‍तीर्ण करने पर बैंक सफल कर्मचारियों को प्रोत्‍साहन राशि प्रदान करता है.
 
  
बैंक में द्विभाषी पत्राचार करने हेतु सभी कंप्‍यूटरों में निहित युनिकोड फांट का प्रयोग किया जाता है. कोर बैंकिंग समाधान तथा एचआरएमएस में हिन्‍दी का प्रयोग सुनिश्चित करने हेतु बैंक में सभी शाखा कार्यालयों में लिंगवीफै. बैंक नामक इंटरफेस उपलब्‍ध कराया गया है.
 
  
भारत सरकार के वार्षिक कार्यान्‍वयन कार्यक्रम के अनुसार पुस्‍तकालय के लिए निर्धारित बजट में से 50%  राशि हिन्‍दी पुस्‍त्‍कों की खरीद के लिए आबंटित की जाती है. प्रधान कार्यालय सहित  क्षेत्रीय कार्यालयों में बैंकिंग, अर्थशास्‍त्र तथा सामान्‍य विषय पर पुस्‍‍तकें उपलब्‍ध है. इसके अलावा बैंक की हर एक शाखा में हिन्‍दी –अंग्रेजी तथा अंग्रेजी –हिन्‍दी शब्‍द कोश उपलब्‍ध कराया गया है. इसके अलावा अपने दैनंदिन कार्य में हिन्‍दी के उपयोग करने हेतु स्‍टाफ सदस्‍य को प्रोत्‍साहन देने के उद्देश्‍य से हर एक स्‍टाफ सदस्‍य को अंग्रेजी – हिन्‍दी बैंकिंग शब्‍दावली तथा राजभाषा सहायिका उपलब्ध करायी गयी है. 
 
राजभाषा नियम 1976 के नियम 10(4) के अधीन शाखाओं को अधिसूचित करना  
 
बैंक ने राजभाषा नियम 1976 के नियम 10(4) के तहत अब तक 1080 शाखाओं / कार्यालयों को अधिसूचित किया है.
 
 
बैंक के राजभाषा प्रभाग द्वारा विजया मित्र नाम की तिमाही हिन्‍दी गृहपत्रिका प्रकाशित की जाती है और बैंक की गृह पत्रिका विजया विकास के राजभाषा खंड में बैंकिंग, प्रशासन साहित्‍य आदि पर हिन्‍दी में लेख प्रकाशित किए जाते हैं. इसके अलावा कहानी, कविता भी लिखे जाते हैं.
 
विजया बैंक एक मात्र बैंक है जिसके पास राजभाषा के लिए अलग से एक विशिष्‍ट वेब साइट

rajbhasha.vijayabank.com  है.

  
हिन्‍दी में प्राप्‍त पत्रों का जवाब हिन्‍दी में ही दिए जाते हैं.
  • साईनबोर्ड, काऊंटर बोर्ड, नाम पट्ट क्षेत्रीय भाषा, हिन्‍दी  व अंग्रेजी में उपलब्‍ध हैं.
  • पत्र शीर्ष, फार्म, राजिस्‍टर विजि़टिंग कार्ड,पहचान पत्र तथा सभी लेखन सामग्री द्विभाषी हैं.
  •  पत्राचार सामग्री द्विभाषी हैं.
  •  प्रकाशन/ पुस्तिकाएं हिन्‍दी व अंग्रेजी दोनों में हैं.
  •  हिन्‍दी में लिखे व हस्‍ताक्षरित चेक स्‍वीकार किए जाते हैं. 
  •  हम हिन्‍दी में पत्राचार का स्‍वागत करते हैं.
  • हिन्‍दी में भरे गए आवेदन पत्र, फार्म आदि स्‍वीकार करते हैं.
  • फाईल के शीर्ष हिन्‍दी व अंग्रेजी में लिखे जाते हैं.
  • बैंक के कार्यक्रमों के आमंत्रण पत्र क्षेत्रीय कार्यालय, हिन्‍दी तथा अंग्रेजी में मुद्रित किए जाते हैं.
  • अखिल भारतीय स्‍तर के विज्ञापन हिन्‍दी तथा अंग्रेजी में प्रकाशित किए जाते हैं.